बिहार का सबसे पहला एक्सप्रेस वे का काम दरभंगा से होगा शुरू, 14 को रखे जायेंगे आधारशिला

0

देश में सड़क निर्माण का कार्य बहुत तेजी से किया जा रहा है. देश के अधिकांश राज्यों में कई एक्सप्रेस वे का निर्माण हो चुका है या निर्माण कराया जा रहा है. लेकिन बिहार को समर्पित अब तक एक भी एक्स्प्रेस वे नहीं है. लेकिन बिहार को समर्पित पहला एक्स्प्रेस वे जल्द ही लोगों के लिए हकीकत बनने वाला है. यहां जल्द ही 189 किलोमीटर लंबे आमस (औरंगाबाद) -दरभंगा एक्सप्रेस वे का निर्माण शुरू होने जा रहा है.

नितिन गडकरी रखेंगे आधारशिला

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी 14 नवंबर को बक्सर जिले में हो रहे संत समागम में भाग लेने के लिए बिहार आ रहे हैं. यहां वह इस एक्सप्रेस-वे परियोजना की आधारशिला रखेंगे. इस दिन नितिन गडकरी 2300 करोड़ लगायत की तीन अन्य परियोजना का शिलान्यास भी करेंगे.

आमस से दरभंगा तक जाएगा एक्सप्रेस वे

बिहार का यह पहला एक्सप्रेस वे NH19 पर स्थित औरंगाबाद जिले के आमस से शुरू होकर दरभंगा जिले के नवादा गांव में एनएच-27 तक जाएगा. यह एक्सप्रेस वे राज्य के अरवल, जहानाबाद, पटना, वैशाली और समस्तीपुर सहित सात जिलों को पार करेगा. इस परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है. भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) द्वारा इस सड़क का निर्माण किया जाएगा.

6000 करोड़ रुपये की लागत से होगा निर्माण

इस महत्वाकांक्षी परियोजना का निर्माण चार पैकेज में किया जाएगा. 6000 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले इस सड़क के निर्माण के लिए एनएचएआई ने तीन निर्माण कंपनियों को निविदा आवंटित की है. इस निर्माण कार्य को पूरा करने के लिए वर्ष 2024 तक की समय सीमा तय की है. इस एक्सप्रेस वे परियोजना के पूरा होने के बाद उत्तर से दक्षिण बिहार की यात्रा महज चार घंटे की रह जाएगी. NHAI ने इस एक्सप्रेस वे को NH 119D के रूप में अधिसूचित किया है.

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top